बठिंडा में 2 किसानों ने किया आत्महत्या: दोनों किसान कर्ज से थे परेशान, जहरीली दवा निगल की जीवन लीला समाप्त

Punjab

बठिंडा39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
मृतक किसान की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar

मृतक किसान की फाइल फोटो।

जिले के दो गांवों के किसानों ने कर्ज और आर्थिक तंगीं के कारण आत्महत्या कर ली। बताया जाता है कि फुलेवाला गांव के किसान सुखचैन सिंह के बेटे प्रीतम सिंह पर आठ लाख रुपए का कर्ज बकाया है। ग्रामीणों ने बताया कि छोटी खेती करने वाला उक्त किसान 9 एकड़ जमीन ठेके पर लेकर खेती करता था। कर्ज से परेशान था और उसने जहर पीकर आत्महत्या कर ली। फूल थाने की पुलिस ने मृतक किसान के भाई सीरा के बयानों पर 174 के तहत कार्रवाई की है।

इसी तरह गांव जेठूके के किसान महिंदर सिंह ने जहरीली दवा पीकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। जानकारी देते हुए भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के ब्लॉक नेता निक्का सिंह और गांव प्रधान मिट्ठू सिंह ने बताया कि महिंदर सिंह पर करीब आठ लाख का सरकारी और गैर सरकारी कर्ज था। जिससे किसान काफी परेशान रहता था। किसान यूनियन के संघर्ष के बाद नायब तहसीलदार द्वारा परिवार को तीन लाख का चेक सौंपा गया।

जिसके बाद परिवार ने किसान का पोस्टमॉर्टम कराया और उनका अंतिम संस्कार किया। किसान नेताओं ने कहा कि कई किसानों और मजदूरों ने इससे पहले पंजाब में आत्महत्या कर ली थी, लेकिन सरकार ने अभी तक किसी को मुआवजा नहीं दिया है। नेताओं ने मांग की कि किसान महिंदर सिंह का सारा कर्ज माफ किया जाए, एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *