सुसाइड के लिए ट्रेन इंजन के आगे खड़ी हुई महिला: जमुई में कुली ने देखा तो खींच कर जीआरपी के पास लाया, महिला बोली-फैमिली मैटर है

Bihar

जमुईएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

जमुई के झाझा स्टेशन पर शनिवार की रात एक महिला जान देने के लिए ट्रेन के आगे खड़ी हो गई। ट्रेन के ड्राइवर द्वारा लगातार हॉर्न बजाया जा रहा था। महिला पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा था। तभी कुली चंद्रशेखर की नजर महिला पर पड़ी।

आनन-फानन में महिला को कड़ी मशक्कत के बाद ट्रेन के आगे से हटाया और रेल जीआरपी पुलिस के हवाले कर दिया। महिला की तबीयत बिगड़ने लगी। झाझा जीआरपी पुलिस ने उसे इलाज के लिए झाझा रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टर द्वारा इलाज किया गया और बेहतर इलाज के लिए उसे जमुई रेफर कर दिया।

महिला को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

महिला को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

महिला जीआरपी पुलिस शकुंतला किस्कू ने बताया कि एक ट्रेन लगी हुई थी जहां वह इंजन के सामने खड़ी थी। उसे चंद्रशेखर नाम के कुली ने पकड़कर थाने में लाया। महिला से बात करने पर अपना नाम विभा बताई।

वह सोनो थाना क्षेत्र के केनिया गांव की रहने वाली है। जीआरपी पुलिस ने बताया महिला से पूछने पर बताया की फैमिली मैटर है। इससे आगे वह कुछ नहीं बोली। महिला ने एक मोबाइल नंबर दिया। जिस पर बात कर महिला की स्थिति के बारे में जानकारी दिया गया। परिवार के द्वारा कुली को ही फसाने की धमकी दिया जाने लगा। फिलहाल महिला का इलाज झाझा अस्पताल में कराया गया। स्थिति पहले से ठीक है।

इधर इलाज कर रहे हैं डॉक्टर शेखर ने बताया कि झाझा रेल जीआरपी के द्वारा महिला को बेहोशी की अवस्था में इलाज के लिए अस्पताल में लाया गया था। डॉक्टर ने बताया कि जानकारी मिली कि महिला एक ट्रेन के आगे खड़ी थी। जिसे खींच कर बाहर किया गया। प्राथमिक उपचार किया गया है। महिला सोनो की रहने वाली है। परिजनों को सूचना दे दी गई है। महिला को बेहतर इलाज के लिए जमुई रेफर कर दिया गया है।


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *